Our Vision / Mission

Considering the entire Society as a our family , be prepared for selfless services and safety

पथमेड़ा इतिहास

श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा का संक्षिप्त परिचय

Read More →

गो सेवा कैसे करे ?

गोसेवा का स्वरुप

Read More →

गोसेवा के प्रकार

आप अपनी श्रद्धानुसार गोग्रास अवश्य प्रदान करें|

Read More →

वेदलक्षणा गोपूजन

अर्चन गोमाता के पूजन की वैदिक विधि

Read More →

Who We Are?

वेदलक्षणा गोवंश के लिये प्राणलेवा भयंकर दुष्काल ईस्वी सन् 1987 से 1993 के मध्य गोरक्षा आन्दोलन का विधेयात्मक (सकारात्मक) स्वरूप देशवासियों के सामने आया। उपरोक्त समयावधि में माँ नर्मदा एवं कल्पगुरु दत्तात्रेय भगवान की प्रेरणा से परम श्रद्धेय गोऋषि स्वामी श्रीदत्तशरणानन्दजी महाराज का राजस्थान की भूमि पर लम्बे अज्ञातकाल के बाद आगमन हुआ। कुछ सत्संगी साधकों द्वारा अगस्त सन् 1992 में एकान्त स्थली के रूप में सांचोर शहर के निकट आनन्दवन पथमेड़ा गोचरभूमि पर स्थित कामधेनु सरोवर के सन्निकट स्थान चयनित किया।.

Read More →

Upcoming Event

Latest News

Want to be a member ?

Become a Proud Member....

आज ही अपना रजिस्ट्रेशन करवाएं

Our Achievements

0

TOTAL COW

0

TOTAL BRANCH

0

TOTAL MEMBERS

0

Total Gosevak

श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा