पथमेड़ा ब्राण्ड घी की सच्चाई

img

पथमेड़ा गोशाला के नाम का दुरूपयोग

आदरणीय गोभक्तों,
    श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा द्वारा गोपालन को बढ़ावा देने, गोमहिमा की पुनःस्थापना के लिये गोसेवा प्रेमियों एवं गो उपासकों को शुद्ध गो-उत्पाद (पंचगव्य) उपलब्ध करवाने के लिये श्रीपृथ्वीमेड़ा पंचगव्य उत्पाद प्रा.लि. कम्पनी गोभक्तों के सहयोग से प्रारम्भ की गयी थी। जिसमें अलिखित नियम रखा गया था कि इस कम्पनी के 51 प्रतिशत शेयर श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा के रहेंगे एवं 49 प्रतिशत शेयर गोभक्त कार्यकताओं को प्रदान किये गये थे। इन गोभक्त कार्यकताओं ने घोषणा की कि अपने शेयरों का मुनाफा भी गोसेवार्थ भेंट करेंगे अर्थात् कम्पनी को जो भी मुनाफा होगा, वह श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा में सेवित गोमाता की सेवा में लगता रहेगा |
    

इस कम्पनी को चलाने का जिम्मा अपने आपको समर्पित गोभक्त के रूप अपना परिचय करवाने वाले वित्तीय कम्पनी के संचालक आगरा वालों को दिया गया जिनकी स्वयं की यह घोषणा थी कि ‘‘गाय को अपने पैरों पर खड़ा करूंगा’’ ऐसे गोहितैशी संकल्प लेने वाले व्यक्ति ने छलावा करके पूरी कम्पनी अपने परिवार के नाम कर दी एवं श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा द्वारा नामित निर्देशकों के डिजीटल व नकली हस्ताक्षर करवाकर कानूनी प्रक्रिया को पूर्ण कर दिया गया और श्री गोधाम पथमेड़ा को बताया कि गोदुग्ध डेयरी को घाटा होने के कारण करोड़ों रूपये बैंक से ऋण प्राप्त किया है, कम्पनी घाटे में है।

     श्री पथमेड़ा गोधाम ईश्वरी न्याय पर विश्वास करने वाली संस्था है, जिस पर सम्पूर्ण देश के गोभक्तों की आस्था व श्रद्धा जुड़ी हुई है इसलिए गरिमा तथा मर्यादा के बाहर जाकर किसी विवाद में पड़ना नही चाहते है। अतः  ऐसी विकट परिस्थिति में समस्त देश व विदेश में रहने वाले गोभक्तों से अनुरोध कि भविश्य में आने वाले डेयरी उत्पाद की शुद्धता की गारन्टी श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा लोक पुण्यार्थ न्यास की नहीं रहेगी। आप क्रय करे, नहीं करे, दूकान रखे, नहीं रखे, आपकी मर्जी, विवेक से निर्णय करे।
   जय गोमाता, जय गोपाल, 
                    
               श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा लोक पुण्यार्थ न्यास

                        तह- सांचोर, जिला - जालोर (राज.)

More Images


image-1 image-2 image-3

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER