गोनवरात्रि पर सात्विक शक्ति का संचय करें|

img

श्री सुरभ्यै नमः
गोनवरात्रि पर सात्विक शक्ति का संचय करे
सादर सप्रेम जय गोमाता जय गोपाल
आज गोनवरात्र का तीसरा दिन है, वेदलक्षणा गौमाता में आस्था रखने वाले धर्मात्मा सज्जन भाई बहिनों को गोप्रदत सात्विक व स्वल्प आहार ग्रहण करके यथेष्ट सदाचार एवं शरीर, इंद्रियों, मन, वाणी का संयम रखते हुए गोउपासना, गोसेवा, गोमहिमा प्रधान गोअंक आदि सत्साहित्य का स्वाध्याय प्राणी मात्र के प्रतिहित दृष्टि युक्त दया, करुणा का भाव रखें और अपने अपने कर्तव्य का सविधि पालन करना चाहिए। इससे शारीरिक आरोग्य व स्फूर्ति, मानसिक पवित्रता व शांति, बौद्धिक प्रखरता व विवेक आदि परम सात्विक तथा कल्याणकारी शक्तियाँ प्राप्त होगी। जो अगले 1 वर्ष पर्यन्त दैनिक एवं व्यवहारिक जीवन में आपको अभाव अशान्ति, भय और नीरसता से सुरक्षित रखेगी।

image-1 image-2 image-3

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER